भारत-पाकिस्तान आपस में मामला सुलझा सकते हैं:

उत्तर प्रदेश

भारत-पाकिस्तान आपस में मामला सुलझा सकते हैं: ट्रंप
जी-7 की बैठक में हिस्सा लेने फ्रांस गए भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने एक संयुक्त प्रेस वार्ता किया*.इस दौरान नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर कहा है कि भारत और पाकिस्तान के सभी मुद्दे द्विपक्षीय हैं और इसमें किसी तीसरे पक्ष के दख़ल की कोई गुंजाइश नहीं है. ट्रंप ने भी कहा कि भारत और पाकिस्तान ख़ुद ही अपने मसले सुलझा सकते हैं.*एक पत्रकार ने मोदी से पूछा कि कश्मीर के मुद्दे पर भारत-पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता की ट्रम्प की पेशकश को आप कैसे देखते हैं? इसके जवाब में मोदी का कहना था, ”भारत और पाकिस्तान के सारे मुद्दे द्विपक्षीय हैं. इसलिए हम दुनिया के किसी भी देश को इसके लिए कष्ट नहीं देते हैं. और मुझे विश्वास है कि भारत और पाकिस्तान जो 1947 के पहले एक ही थे, हम मिलजुल कर हमारी समस्याओं पर चर्चा भी कर सकते हैं और समाधान भी कर सकते हैं.”*वहीं अमरीकी राष्ट्रपति ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने उन्हें बताया कि कश्मीर में स्थिति नियंत्रण में है*मोदी ने कहा उस फ़ोन कॉल के दौरान भी उन्होंने इमरान ख़ान से यही कहा था कि ”भारत और पाकिस्तान के बीच कई द्विपक्षीय मुद्दे हैं. भारत और पाकिस्तान दोनों को ही ग़रीबी, अशिक्षा और बीमारी के ख़िलाफ़ लड़ना है. इसलिए बेहतर है कि हम दोनों मिलकर इनका मुक़बाल करें.”*मोदी के इस दो-टूक जवाब के बाद ट्रंप ने कहा कि उन्हें पूरा यक़ीन है कि भारत और पाकिस्तान मिलकर सभी आपसे मुद्दे सुलझा लेंगे*.*मोदी का ये बयान इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि पिछले कुछ दिनों में ट्रंप कश्मीर के मामले में भारत-पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता की पेशकश करते रहे हैं.**लेकिन ये शायद पहला मौक़ा होगा जब अमरीकी राष्ट्रपति की मौजूदगी में भारतीय प्रधानमंत्री ने साफ़ शब्दों में कह दिया हो कि कश्मीर के मामले में अमरीका समेत किसी भी तीसरे देश के दख़लअंदाज़ी के लिए कोई गुंजाइश नहीं है.*मोदी के इस बयान के बाद ट्रंप का बयान भी काफ़ी अहमियत रखता है क्योंकि ट्रंप ने भी अपनी मध्यस्थता की बात नहीं दोहराई.

Spread Your Love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *