निचलौल थानाध्यक्ष ने पत्रकार को बना डाला दोषी कॉल रिकॉर्ड हुआ वायरल

मुखपृष्ठ

योगी सरकार और डीजीपी महोदय आदेशों का उड़ा रही धज्जियां यूपी पुलिस

बताते चलें कि अभी पिछले कुछ दिनों पहले एक आर्टिकल छपा था कि यदि कोई पत्रकार को धमकी देता है या उसके साथ अभद्रता करता है तो उसे 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार किया जाए परंतु यहां तो कुछ और ही यूपी पुलिस करने में लगी हुई है बिना जांच किए हुए पत्रकार को ही दोषी बनाने में उत्तर प्रदेश पुलिस लगी हुई है मामला उत्तर प्रदेश के महाराजगंज जनपद का है इंडिया पावर न्यूज़ के संपादक सुरेंद्र रावत को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र निचलौल में तैनात डॉक्टर डीएन सिंह के द्वारा जान मारने की धमकी दी जाती है जब पत्रकार अपना तहरीर थाने में देते हैं तो कोई कार्यवाही नहीं होती है बल्कि इंतजार होता है कुछ कमाई का इतना ही नहीं जब एक पत्रकार बंधु ने इस मामले से अवगत होना चाहा तो निचलौल थाने में तैनात थानाध्यक्ष महोदय ने सारी गलतियां पत्रकार की निकाल दी ऐसे लगा जैसे थानाध्यक्ष नहीं बल्कि उक्त धमकी देने वाला डॉक्टर डीएन सिंह बन बैठे हैं बिना जांच किए बिना वीडियो देखें ही सारी गलतियां पत्रकार की निकाल दिए अभी तो धमकी का वीडियो पत्रकार के पास था अब एक और ऑडियो थानाध्यक्ष महोदय का आ गया जिसमें सारी गलती पत्रकार की बता रहे हैं ऐसे में जब चौथे स्तंभ के साथ पुलिस इस तरह का बर्ताव करती है आम जनता के साथ उत्तर प्रदेश की पुलिस कैसा बर्ताव करेगी आप इसी से अंदाजा लगा सकते हैं।

Spread Your Love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *