दोनों विदेशी महिलाओं को नहीं मिली नेपाल जाने की अनुमति

अपराध उत्तर प्रदेश मुखपृष्ठ

दोनों विदेशी महिलाओं को नहीं मिली नेपाल जाने की अनुमति सोनौली। भारत के सोनौली बॉर्डर से पर्यटक वीजा पर नेपाल जा रहे 446 कोरियाई पर्यटकों के समूह की दो महिलाओं को आव्रजन अधिकारियों से दुर्व्यवहार, सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने और रिश्वत देने के आरोप में पुलिस ने हिरासत में लिया था। पुलिस ने उनका डिपार्चर वीजा रोकते हुए उन्हें नेपाल जाने की अनुमति नहीं दी। अब उन्हें पुन: भारत आगमन पर अनुमति लेनी पडे़गी। आरोप है कि महिलाएं आव्रजन अधिकारियों को रिश्वत देकर यात्रियों को ले जाने की जल्दबाजी कर रही थी। मना करने पर हंगामा करते हुए सरकारी कार्यों करने से रोक दिया था। शनिवार की सुबह करीब पांच बजे नौ बस 446 कोरियाई नागरिकों का दल सोनौली पहुंचा था। उसमें से दो महिलाओं ने खुद को ग्रुप लीडर बताते हुए आव्रजन अधिकारियों को सभी का पासपोर्ट व वीजा देते हुए। कागजी कार्यवाही जल्द करने के लिए रिश्वत देने की कोशिश की थी। उन्होंने हंगामा भी किया था। इस पर जियान यू निवासी कोरिया और जेना पार्क निवासी यूएसए को हिरासत में ले लिया गया था। आव्रजन अधिकारियों ने बताया कि दोनों विदेशी महिलाओं को नेपाज जाने की अनुमति नहीं दी गई। अन्य कोरियाई नागरिकों को नेपाल रवाना किया गया। इस संबंध में कोतवाल निर्भय सिंह ने बताया कि आव्रजन अधिकारियों की तहरीर पर दोनों विदेशी महिलाओं को हिरासत में लिया गया था। उन्हें पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया।

Spread Your Love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *